मम्मी के कहने से उनकी सहेली को चोदा

दोस्तो, यह कहानी अमन की है जिसको मैंने लिखा है।

मेरा नाम अमन है.. मैं लखनऊ का रहने वाला हूँ और दिखने में बस ठीक-ठाक हूँ। कद 5 फीट 8 इंच और लंड भी ठीक-ठाक है।
मेरी उम्र 19 साल और मम्मी की उम्र 38 साल है.. मम्मी का नाम अंजलि है।

इस कहानी के लगभग सभी अंश वास्तविक है।
बात है लगभग 3 महीने पहले की है.. मेरी मम्मी की एक सहेली है.. उनका नाम है रेखा। रेखा की उम्र होगी 30 साल.. रेखा की शादी के 2 साल हो गए थे लेकिन अभी तक उन्हें कोई बच्चा नहीं हुआ था।

एक दिन रेखा ने मम्मी से यह बात बताई कि उनके पति के अन्दर कमी है.. इस लिए वो कभी माँ नहीं बन सकती है।
इस बात को लेकर रेखा थोड़ा उदास रहती थी।

तो मेरी मम्मी ने रेखा से कहा- अगर तुम बुरा न मानो.. तो मैं कुछ उपाय बताऊँ।
उन्होंने कहा- अगर तुम कहो तो मैं अपने बेटे से तुम्हारे साथ सेक्स करने की बात करूँ..
तो रेखा दीदी ने मना कर दिया।

लेकिन एक दिन फिर रेखा दीदी ने मम्मी से बात की और बोला- यदि किसी को पता न चले.. तो मैं ये कर सकती हूँ।
मम्मी ने उन्हें विश्वास दिलाया कि मैं बेटे से बात करूँगी और यह बात किसी को पता नहीं चलेगी।

वैसे मैं बता दूँ कि मैं और मम्मी आपस में काफी खुले हुए हैं और मेरी मम्मी का तलाक हो चुका है.. तो घर पर सिर्फ मैं और मम्मी ही रहते हैं।

एक दिन शाम को मैं और मम्मी चाय पी रहे थे.. तो मम्मी ने बात शुरू की, पहले उन्होंने मुझसे पूछा- आजकल तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?
मैंने बोला- अभी तो नहीं है..

इसी तरह थोड़ी देर बात करने के बाद बोलीं- वो जो मेरी फ्रेंड है न रेखा..
मैंने बोला- हाँ.. रेखा दीदी को क्या हुआ?
तो मम्मी ने बोला- हुआ कुछ नहीं.. उनकी शादी के 2 साल हो गए.. लेकिन बच्चा नहीं हो रहा है।
मैंने बोला- डॉक्टर को दिखा लें।
मम्मी ने बोला- वो डॉक्टर को दिखा चुकी है.. उनके पति में कुछ दिक्कत है.. उनसे बच्चा नहीं हो सकता।
तो मैंने बोला- फिर तो कुछ नहीं हो सकता।

फिर एक मिनट बाद मम्मी बोलीं- अगर तुम बुरा न मानो तो एक बात बोलूँ?
मैंने कहा- बोलो?
उन्होंने कहा- अगर तुम चाहो तो उनके बच्चा हो सकता है।
मैंने उनकी तरफ देखा और पूछा- कैसे?
उन्होंने कहा- तुम रेखा के साथ सेक्स कर लो!
यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !

मैंने उनकी तरफ देखा और बोला- आप पागल हो क्या?
उन्होंने कहा- क्यों तुम्हें कोई दिक्कत है?
मम्मी मुझे मनाने लगीं.. मैं तो खुश हो रहा था।

मैंने कुछ देर सोचा फिर बोला- ठीक है.. लेकिन मेरी शर्त है।
मम्मी ने बोला- कैसी शर्त?
मैं बोला- जब भी रेखा दीदी घर आएँगी.. मैं उनके साथ सेक्स के मजे लूँगा और सेक्स मैं सिर्फ अपने घर पर करूँगा।
मम्मी ने बोला- ये मैं रेखा से बात करके बताऊँगी।

मम्मी ने रेखा से बात की… थोड़ी नानुकुर के बाद रेखा तैयार हो गई।
फिर एक दिन रेखा दीदी घर आईं.. मम्मी ने कुछ देर बात की। फिर मम्मी मेरे कमरे में आईं और बोलीं- जाओ उस कमरे में रेखा दीदी हैं.. जाकर अपना वादा पूरा करो।

मम्मी ने मुझे एक कामुक मुस्कान से देखा.. जब मैं जाने लगा तो मम्मी ने बोला- आराम से करना।

मैं उस कमरे में पहुँचा.. जहाँ रेखा दीदी बैठी हुई थीं, मैं बहुत उत्तेजित महसूस कर रहा था, दीदी मुझे देख कर मुस्कुरा रही थीं।

मैं जल्दी-जल्दी में दरवाजा बंद करना भी भूल गया और जाते ही उनके होंठों को चूसने लगा और साथ में चूचियाँ दबाने लगा।
मैंने धीरे-धीरे दीदी के सारे कपड़े उतार दिए और उन्होंने मुझे भी नंगा कर दिया।

अभी मैं खड़ा था और वो घुटनों के बल बैठ कर मेरा लण्ड चूस रही थीं।
तभी मैंने देखा कि दरवाजा खुला है और मम्मी हम दोनों को देख कर हँस रही थीं।

मैंने भी मम्मी को देख कर इशारा किया कि आपको भी चूसना हो तो आ जाओ। मम्मी ने कामुक नजरों से मुझे देखा और बोला- रात में।
फिर मैंने रेखा दीदी के मुँह से लंड निकाला और बिस्तर पर लिटा कर उनकी चूत में डाल दिया, दीदी ने तेजी से ‘आह’ किया।
मम्मी बाहर से बोलीं- बेटा धीरे डालो..
मैंने बोला- मम्मी आकर थोड़ा तेल लगा दो न!

मम्मी तेल लेकर कमरे में आईं.. दीदी मम्मी को देखकर शरमा गईं।

फिर मम्मी ने रेखा दीदी की चूत में तेल लगाया, फिर मेरे लंड को हिलाकर कर रेखा की चूची दबाईं और बोलीं- नंगी अच्छी लगती हो..
और चली गईं।

15 मिनट तक मैंने रेखा दीदी की चुदाई की.. और उनके अन्दर ही अपना रस निकाल दिया।
फिर दोनों लोगों के कपड़े पहने और बाहर आ गए।

मम्मी ने रेखा दीदी से पूछा- मजा आया या नहीं?
तो दीदी बस हँस दीं.. लेकिन मैंने बोल दिया- मुझे रेखा दीदी की चूत चोद कर बहुत मजा आया।

फिर कभी बताऊंगा कि रात में मम्मी के साथ क्या हुआ।

Leave a comment